close button
विज्ञापन

नई पोस्ट

   25   50   75   100

 (इस्लामिक वेबदुनिया)
11/23/2014 9:27:00 AM
इस्लामिक वेबदुनिया इस्लामिक वेबदुनिया एक मुस्लिम पायलट होने के नाते मैं दुनिया को दिखाना चाहती हूं कि इस्लाम गुलामी और उत्त्पीडऩ का मजहब नहीं है जैसा कि कई लोग सोचते
(इस्लामिक वेबदुनिया)
 हिंदीकुंज पुस्तक (pramod joshi)
11/23/2014 9:12:00 AM
जिज्ञासा बाबा रामपाल प्रकरण के बाद भारतीय समाज में बाबाओं और संतों की भूमिका को लेकर कई तरह के सवाल खड़े होते हैं। तेजी से आधुनिक होते देश में संतों-बाबाओं की उपस्थिति क्या
हिंदीकुंज पुस्तक (pramod joshi)
 हिंदीकुंज पुस्तक (pramod joshi)
11/23/2014 8:43:00 AM
जिज्ञासा दिल्ली के प्रगति मैदान में साल भर कोई न कोई नुमाइश लगी रहती है पर दिल्ली वाले ट्रेड फेयर और पुस्तक मेले का इंतज़ार करते हैं। आमतौर पर ट्रेड फेयर में शनिवार
हिंदीकुंज पुस्तक (pramod joshi)
 उधेड़ बुन (Rahul Upadhyaya)
11/23/2014 8:38:19 AM
उधेड़-बुन हर तरफ़ अब यही अफ़साने हैं कितनी चतुराई है इन बाबाओं में पढ़े-लिखे भी लट्टू हो जाए लाखों-करोड़ों का धन दे-दे के सोने-चाँदी के महल
उधेड़ बुन (Rahul Upadhyaya)
 भावयति (alka sarwat)
11/23/2014 8:29:00 AM
1 फेसबुक पर मेरे ४६०० मित्र हैं और १२-१३०० रिक्वेस्ट अभी पेंडिंग में है। लेकिन कल ऐसी घटना हुई कि मेरे चारों तबक रोशन हो गये.एक सामान्य सी बात है कि इन लोगो में से कोई कभी मेरे शहर आएगा और मुझसे
भावयति (alka sarwat)
 समालोचन (arun dev)
11/23/2014 8:21:00 AM
समालोचन वैसे तो समकालीन हिंदी कविता ने छंद और तुक को अपनी दुनिया से लगभग बाहर ही कर दिया है पर रामजी तिवारी जैसा सचेत कवि जब इस तुक को मध्यवर्गीय जीवन की पराजय से जोड़ता
समालोचन (arun dev)
 (Arun Khadilkar)
11/23/2014 8:10:00 AM
मन की लहरें आदमी अकेला आता है अकेला ही जाता है।इस आने और जाने के बीच के दिनों में भीड़ की ज़िंदगी जीता है। भीड़ ने रची हुई ज़िंदगी की गिरफ़्त में रहकर वह अकेलेपन की सच्चाई
(Arun Khadilkar)
कबाड़खाना (Ashok Pande)
11/23/2014 8:00:00 AM
कबाड़खाना हास्यरस ज्ञानरंजन लगभग आधे घंटे में कारवाई पूरी हो गई और हम लोग रजिस्ट्रार के कमरे से बाहर निकल आए तीन मित्र जिन्होंने गवाही दी पत्नी और मुझे लेकर हम पाँच लोग हैं बाहर
कबाड़खाना (Ashok Pande)
 के.के. यादव (Krishna Kumar Yadav)
11/23/2014 7:55:00 AM
शब्द-सृजन की ओर साथ-आठ साल के लड़का-लड़की खेल रहे थे। लड़की बोली चलो मैं छुप जाती हूँ। अगर तूने मुझे ढूंढ लिया तो हम बड़े होकर आपस में शादी करेंगे। लड़का बोला-"ठीक है पर अगर मैं नही ढूंढ पाया
के.के. यादव (Krishna Kumar Yadav)
 कविता (Amar Nath)
11/23/2014 7:38:00 AM
डॉ.लाल रत्नाकर की कवितायेँ जो कुछ आया इतना भयावह था सो तो रहा था पर डर भी गया था भागा भी पर कहां गया कुछ पता नहीं सपना क्या था यह बताते हुए भी भय लग रहा है और बिना
कविता (Amar Nath)
 (।। श्रीहरिः ।।)
11/23/2014 7:30:00 AM
।। श्रीहरिः ।। ॥ सन्तवाणी ॥–श्रद्धेय स्वामीजी श्रीरामसुखदासजी महाराज आजकी शुभ तिथि– मार्गशीर्ष शुक्ल प्रतिपदा वि.सं.–२०७१ रविवार गत ब्लॉगसे आगेका जैसे बीड़ी-सिगरेट
(।। श्रीहरिः ।।)
 सृजन पथ (akanksha-asha.blog spot.com)
11/23/2014 6:47:00 AM
वह दुलार नहीं है निराधार है पता मुझे रिश्ता मधुर माता की ममता सा नहीं दूसरा मन पंछी सा पहुंचा माँ के पास नहीं उदास हाथ पकड़ चलना सिखाया था मेरी माता ने ममतामयी गरिमामयी वह मेरी जननी ममता
सृजन पथ (akanksha-asha.blog spot.com)
दिल एक पुराना सा म्यूज़ियम है (Roushan Mishra)
11/23/2014 6:20:00 AM
दिल एक पुराना सा म्यूज़ियम है एक बड़ा शहर और उसमें एक जानवर का जीवन एक बड़ा जंगल और उसमे इंसानी रिहाइश क्या फर्क हो सकता है शहर में जानवर पूरी तरह से असुरक्षित है लेकिन
दिल एक पुराना सा म्यूज़ियम है (Roushan Mishra)
अनुनाद (शिरीष कुमार मौर्य)
11/23/2014 5:30:00 AM
शिरीष कुमार मौर्य अनुनाद शायक आलोक से मुलाक़ात का माध्यम फेसबुक है। इस नौजवान की कविता ने मुझे बहुत शुरूआत से अपनी ओर खींचा। अनुनाद पर पहली बार फेसबुक से जो कविता आयी वो शायक की
अनुनाद (शिरीष कुमार मौर्य)
 राष्ट्रप्रेमी (डा.संतोष गौड़ राष्ट्रप्रेमी)
11/23/2014 4:37:00 AM
डा.संतोष गौड़ राष्ट्रप्रेमी राष्ट्रप्रेमी 4.18.2007 ख्याल हमारा मत करना। तन को मन को और बुद्धि को स्वस्थ बनाये रखना। आहार-विहार रहे सन्तुलन पौष्टिक भोजन नित
राष्ट्रप्रेमी (डा.संतोष गौड़ राष्ट्रप्रेमी)
 (डा.संतोष गौड़ राष्ट्रप्रेमी)
11/23/2014 4:30:00 AM
डा.संतोष गौड़ राष्ट्रप्रेमी आओ खुद को संवारें प्रबंधन करें आधुनिक युग में पुनः प्रबंधन के महत्व को स्वीकार किया जाने लगा है। जीवन में प्रबंधन के प्रयोग को लेकर जागरूकता का
(डा.संतोष गौड़ राष्ट्रप्रेमी)
           (Pradeep Chauhan)
11/23/2014 4:00:22 AM
रास्ते में जहाँ भी कहीं खूबसूरत नज़ारे दिखाई देते हम लोग झट से अपनी गाड़ी रोक कर थोड़ी देर वहाँ की खूबसूरती को निहारने लगते ऐसी यात्राओं पर अपनी गाड़ी लाने का
(Pradeep Chauhan)
dalitrefugees (Palash Biswas)
11/23/2014 2:15:00 AM
से यही बाहैसियत भारतीय नागरिक राष्ट्रप्रेम नामक कोई वस्तु अगर हममें अब भी जिंदा है और अगर हम इस संविधान की रचना में बाबासाहेब की किंचित मात्र भूमिका
dalitrefugees (Palash Biswas)
cryfreedom (Palash Biswas)
11/23/2014 2:15:00 AM
से यही बाहैसियत भारतीय नागरिक राष्ट्रप्रेम नामक कोई वस्तु अगर हममें अब भी जिंदा है और अगर हम इस संविधान की रचना में बाबासाहेब की किंचित मात्र भूमिका
cryfreedom (Palash Biswas)
kolkatapost (Palash Biswas)
11/23/2014 2:15:00 AM
से यही बाहैसियत भारतीय नागरिक राष्ट्रप्रेम नामक कोई वस्तु अगर हममें अब भी जिंदा है और अगर हम इस संविधान की रचना में बाबासाहेब की किंचित मात्र भूमिका
kolkatapost (Palash Biswas)
 (Khulasa Times Vision)
11/23/2014 1:51:00 AM
किश्तवाड़। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अब तक किसी एक खास धर्म के प्रति लगाव के रूप में देखा जाता रहा है। यहां तक की एक खास धर्म की टोपी न पहनने को लेकर भी उनके ऊपर आलोचकों
(Khulasa Times Vision)
 PRAVAKTA प्रवक्‍ता (बी एन गोयल)
11/23/2014 12:48:22 AM
प्रवक्‍ता.कॉम भारत के इतिहास में एक ऐसा भी समय आया है जब देश में धर्म और अध्यात्म के नाम पर अराजकता फैल रही थी। चार्वाक लोकायत कापालिक शाक्त सांख्य
PRAVAKTA प्रवक्‍ता (बी एन गोयल)
 Dainik Sanatan प्रभात (Dainik)
11/23/2014 12:29:00 AM
प्रसंगांत भावनेपोटी अडकण्यापेक्षा हिंदु राष्ट्राच्या स्थापनेसाठी संख्याबळ वाढवण्यासाठी कृतीशील व्हा प.पू डॉ आठवले धर्मद्रोह्यांनी किंवा धर्मांधांनी
Dainik Sanatan प्रभात (Dainik)
 Dainik Sanatan प्रभात (Dainik)
11/23/2014 12:29:00 AM
धर्मग्रंथ जाळले अशी कृती भारतातील हिंदूंनी कधी एखाद्या मशिदीत केल्याचे ऐकिवात आहे का हिंदूंनो पाकमध्ये धर्मांधांकडून सातत्याने तुमच्या धर्मबांधवांना
Dainik Sanatan प्रभात (Dainik)
 Dainik Sanatan प्रभात (Dainik)
11/23/2014 12:28:00 AM
भारतीय लोकशाहीत अधिक आणि मोठे गुन्हे करणारा पक्षाचा उमेदवार म्हणून घोषित केला जातो एवढेच नव्हे तर बहुधा तो राष्ट्र आणि धर्म यांचे सुवेरसुतक नसलेल्या अशा
Dainik Sanatan प्रभात (Dainik)
1  2  3  4  5  6  7  8  9  10  11  12  13  14  15  16  17  18  19  20  
विज्ञापन

Connect with us

विज्ञापन
इस कोड का प्रयोग करके आप अपने ब्लॉग को रफ़्तार ब्लॉग में दिखाएं तथा सर्च कराएं
raftaar blog

Top Blogs

टॉप ब्लॉग

विज्ञापन
विज्ञापन